Best 251+ Dhokha Shayari in Hindi | धोखा शायरी हिंदी


ना वो सपना देखो जो टूट जाये..!!
ना वो हाथ थामो जो छुट जाये..!!

बारिशे हो ही जाती है मेरे शहर में..!!
कभी बादलो से तो कभी आँखों से..!!

ना जाने कितने दर्द है जो सब्र बन कर..!!
नहीं कब्र बन कर उभर रहे है ज़िन्दगी में..!!

dhokha shayari,
Dhokha wali shayari,
Dhokebaaz Shayari,
bharosa dhokha shayari,
pyar me dhokha shayari hindi,
dhokha wali shayari,
pyar me dhokha shayari in hindi,
shayari dhokha,
apno ne diya hai dhokha shayari,
dhokha par shayari,
dhokha sad shayari,
dhokha wala shayari,
pyar me dhokha sad shayari in hindi,
dhokha ki shayari,
dhokha shayari image,
dhokha pyar shayari,
apno ne diya dhokha shayari,
pyar mein dhokha wali shayari,
apno se dhokha shayari,
dhokha shayari images in hindi,
Image of Dhoka shayari in english,
Dhoka shayari in english,
Image of Pyar Me Dhoka Shayari,
Pyar Me Dhoka Shayari,
Image of Dhokha wali shayari,
matlabi rishte dhoka shayari,

बेवफ़ाओं की महफ़िल लगेगी..!!
आज ज़रा वक़्त पर आना मेहमान..!!

बे-फिजूली की जिंदगी का सिल-सिला ख़त्म..!!
जिस तरह की दुनिया उस तरह के हम..!!

मुस्कुराहट का सबब बेवजह तो नहीं..!!
ज़रूर मेरा चेहरा ख्यालों में आया होगा..!!

उम्मीद क्या होती है पूछो उस इंसान से..!!
जो बैठा है आज भी किसी के इंतजार में..!!

Dhokha Shayari in Hindi

ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी..!!
सिर्फ इतना बता की तेरा कोई और सितम बाक़ी तो नहीं..!!

हर खेल में हम बाजी मार जाते हैं..!!
पर धोखेबाज से हम बाजी हार जाते हैं..!!

धोखा खाकर इंसान जो सीख लेता है..!!
वो सीख उसे दुनिया के किसी किताब से नहीं मिल सकती..!!

इसे भी पढ़े :-

https://statusforlove.com/feeling-shayari-in-hindi/

धोखा मिले कोई बात नहीं..!!
लेकिन आप उन गलतियों से जरूर सीख लें..!!

दोस्त थोड़े कम ही बनाये..!!
लेकिन धोखेबाज़ दोस्तों से दूर रहें..!!

धोखा अक्सर मतलब पूरा होने के बाद ही दिया जाता है..!!

मुझ पर हक तुमने उस दिन खो दिया था..!!
जिस दिन तुमने मुझे धोखा दिया था..!!

धोखा शायरी हिंदी

एक आईना ही है जिसने आज तक..!!
किसी इंसान को धोखा नहीं दिया..!!

धोखा देना मजबूरी हो..!!
तब भी किसी को धोखा मत दीजिए..!!

हर धोखा देने वाला धोखेबाज नहीं होता..!!
कुछ किस्मत का भी लिखा होता है..!!

जिंदगी तेरे जाने के बाद ताश के पत्तो की तरह..!!
बिखर गई है सपनो की इमारत वीरान हो गई..!!

हमे पता हे तुम कही ओर के मुसाफीर हो..!!
हमारा शहर तो बस यूँ ही रास्ते मे आया था..!!

उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था..!!
भूल गए थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती..!!

कभी कभी इतेफाक से भी मुलाकात हो जाती है..!!
जब किसी की याद दिल से हो कर आती है..!!

Dhokha Shayari

कौन है इस दुनिया मे जिसे धोखा नही मिला..!!
शायद वही है इमानदार जिसे मौका नही मिला..!!

दर्द की शाम है आंखो मे नमी है..!!
हर सांस कह रही है फिर तेरी कमी है..!!

बेवफा लोग बढ़ रहे हैं धीरे धीरे..!!
इक शहर अब इनका भी होना चाहिए..!!

आंखे पत्थर थी उनकी जानता हूं पर दिल..!!
तो उनका मोम था जलकर पिघल गया होगा..!!

ना जाने कौन सा आंसू मेरा राज खोल दे..!!
मै इस ख्याल मे नजरे झुकाए बैठी हूं..!!

प्यार मे जरूरी है मेरे लिए तेरी कमी..!!
क्योकि मै हूं आसमां तू है मेरी जमी..!!

जिसकी गलतियो से भी मैने रिश्ते निभाए..!!
उसने ही मुझे फालतू होने का एहसास दिलाया..!!

Bharosa Dhokha Shayari

तेरे बताएं बिना तेरे इंतिहान बहुत हैं..!!
ए जिंदगी तुझसे हम हैरान बहुत है..!!

धोखा तो मिलना ही था मुझे इस शहर मे..!!
इश्क जो मैने एक बेवफा से किया था..!!

यू ना जाओ हमे अकेला छोड़ कर..!!
मै आपके बिना जी नही पाऊंगी..!!

मेरी हर आह को वाह मिली है यहाँ..!!
कौन कहता है दर्द बिकता नहीं है..!!

तुमने समझा ही नहीं और ना समझना चाहा..!!
हम चाहते ही क्या थे तुमसे तुम्हारे सिवा..!!

नही जो वही तो प्यार होता है..!!
बस तेरे लौट आने का इंतजार होता है..!!

बेवफा मुझे तबाह कर इतना तो बता की..!!
क्या आशिकी सिर्फ मेरी आंखो से की थी..!!

विश्वास पर धोखा शायरी

सच्ची मोहब्बत चाहे कितनी भी दूर क्यो ना हो..!!
यादो मे हमेशा मोहब्बत जिंदा रहती है..!!

धोखा दे जाती है हर हसीन चेहरे की चमक..!!
हर चमकते कांच के टुकड़े को हीरा नही कहते..!!

आपके कहने पे मैंने रात लौटा दी..!!
आप भी मेरे हँसी कुछ ख्वाब लौटा दो..!!

ये जो मुस्कराहट का लिबास पहना है..!!
मैंने,दरअसल खामोशियों को रफ़ू..!!करवाया है..!!

क़त्ल ही करना था तो खंज़र उठा लेते..!!
क्या ज़रूरत थी मुस्कुराने की..!!

एक उम्र वो थी कि जादू में भी यक़ीन था..!!
एक उम्र ये है कि हक़ीक़त पर भी शक़ है..!!

मोहब्बत अब नहीं रही जमाने में..!!
अब लोग इश़्क नहीं मज़ाक किया करते हैं..!!

Pyar me Dhokha Shayari Hindi

किसी मज्जिद की तरह थी वो..!!
मैं मंदिर सा उससे हमेशा दूर..!!

लोग सब बहुत अच्छे होते है बशर्ते..!!
हमारा वक्त अच्छा होना चाहिए..!!

खुशियों तकदीर मैं होनी चाहिए..!!
तस्वीर मैं तो हर कोई हँसता हैं..!!

इसे भी पढ़े :- Sad Captions for Instagram in Hindi | इंस्टाग्राम कैप्शन

कुछ इस तरह सौदा किया वक्त ने मुजसे..!!
की तजुर्बा दे कर वो मेरी मासुमियत ले गया..!!

खामोशियाँ करदे बयान तो अलग बात है..!!
कुछ दर्द ऐसे हैं जो लफ़्ज़ों में उतरे नहीं जाते..!!

मेरे हंसते चेहरे को खुशी का नाम मत दो..!!
है दर्द इस दिल में तुम जख्म पर जख्म मत दो..!!

दिल टूटा तब एहसास हुआ इस फरेबी दुनिया में..!!
जिसे दिल से चाहो वही धोखा देता है..!!

पीठ पीछे धोखा शायरी

तू भी सादा है कभी चाल बदलता ही नहीं..!!
हम भी सादा हैं इसी चाल में आ जाते हैं..!!

आदमी जान के खाता है मोहब्बत में फ़रेब..!!
ख़ुद-फ़रेबी ही मोहब्बत का सिला हो जैसे..!!

मेरे ब’अद वफ़ा का धोका और किसी से मत करना..!!
गाली देगी दुनिया तुझ को सर मेरा झुक जाएगा..!!

किसी का यूँ तो हुआ कौन उम्र भर फिर भी..!!
ये हुस्न ओ इश्क़ तो धोका है सब मगर फिर भी..!!

धोखा देना बहुत बड़े गुनाहों में से एक है..!!

एक बार किसी के धोखे से दिल टूट जाए..!!
तो शायद ही फिर जुड़ पाता है..!!

मै जमाये बैठा था नजरे कांटो पर..!!
मुझे क्या पता था जख्म फूल दे जाएगा..!!

Dhokha wali Shayari

जिंदगी सवार ए गालिब जवानी ही तो मौका है..!!
दिल की हरकतो मै एक रंगीन धोखा है..!!

आप एक इंसान को कभी..!!
धोखा नहीं दे सकते, वो है खुद आप..!!

मैंने प्यार जितनी तसल्ली से किया..!!
उसने धोखा भी बहुत मज़े से दिया..!!

धोखेबाज़ को एक बार धन्यवाद तो जरूर ही बोलियेगा..!!
क्योंकि आप उससे वक्त रहते बच गए..!!

थोड़ा बचा हूँ, बाकि हिसाब हो चुका है..!!
बहुत कुछ है, जो मुझमें राख़ हो चुका है..!!

ढूँढ़ने चले थे एक शख्स की मोहब्बत..!!
खुद को ही खो दिया उसकी चाहत में..!!

इक सफ़र में कोई दो बार नहीं लुट सकता..!!
अब दोबारा तिरी चाहत नहीं की जा सकती..!!

धोखा शायरी दो लाइन

ज़ख़्म लगा कर उस का भी कुछ हाथ खुला..!!
मैं भी धोका खा कर कुछ चालाक हुआ..!!

किस ने वफ़ा के नाम पे धोका दिया मुझे..!!
किस से कहूँ कि मेरा गुनहगार कौन है..!!

दिखाई देता है जो कुछ कहीं वो ख़्वाब न हो..!!
जो सुन रही हूँ वो धोका न हो समाअत का..!!

जो लोग अभी तक नाम वफ़ा का लेते हैं..!!
वो जान के धोके खाते, धोके देते हैं..!!

इश्क़ में किनारा पाना आसान नहीं..!!
हर लहर यहाँ धोखे की उठती हैं..!!

देखा है जिदंगी में हमने ये आज़मा के..!!
देते है यार धोखा दिल के करीब ला के..!!

जिन्दगी की हर मोड़ पर धोखेबाज मिलें..!!
उनमें पराये कम, अपने ज्यादा मिलें..!!

Dhokha par Shayari

धोखा कोई एक देता है और..!!
नफरत सबसे हो जाती है..!!

उसी ने धोखे से मुझे जहर पिलाया है..!!
कोई नहीं अपना हर कोई यहां पराया है..!!

वो दर्द भरी रातें जब भी याद आती है..!!
तेरे दिए धोखे को याद दिला जाती है..!!

माना कि अब तुझे मेरी जरूरत नहीं..!!
ठीक है मुझे भी देखने तेरी सूरत नहीं..!!

दिल हमारा जलकर धुआं धुआं हो गया..!!
जिसे दिल में बैठाया था वही बेवफा निकला..!!

इस मतलबी दुनिया में इश्क सिर्फ दिखावा है..!!
तुझे भी धोखा मिलेगा यह मेरा दावा है..!!

इश्क की चोट भी रह-रहकर सजा देती है..!!
हम बेवफा नहीं फिर भी हमें बेवफा वो कहती है..!!

विश्वास में धोखा देने वाली शायरी

कितना मुश्किल है अब इस दिल को समझाना..!!
उसके लिए छोटी बात है धोखा देकर चले जाना..!!

धोखा खाकर हम पर हंसा है यह जमाना..!!
शीशा जैसे टूटा है वैसे टूटा है दिल हमारा..!!

प्यार करने से नहीं साहब..!!
धोखा खाने से डर लगता है..!!

दुनिया भूलाई थी मैंने तुम्हारी चाहत में..!!
धोखा देकर चले गए इस हालत में..!!

वो जाते हुए कह रही थी मजबूर हूं मैं मगर..!!
साफ लफ्जो में यह ना कहा धोखेबाज हूं मैं..!!

कमबख्त दिल को अग़र इश्क़ में लगाओगे..!!
लिख के ले लो धोखा जरूर पाओगे..!!

तू निकलेगी बेवफा मुझको नहीं था यकी..!!
क्यों धोखा दिया तुमने, प्यार में थी क्या कमी..!!

Dhokha Sad Shayari

ना जाने क्या लिखा है तक़दीर में..!!
जिसे भी चाहा उसी ने धोखा दे दिया..!!

जब तक खाते नहीं धोखा बेवफा से तब तक..!!
हर किसी को अपनी वफा पर नाज होता है..!!

धोखा देना तेरी फितरत है..!!
धोखा खाना मेरी आदत है..!!

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें..!!
उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर..!!

इसे भी पढ़े :- No Love Shayari, Status Quotes in Hindi | दिखावे का प्यार शायरी

आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की..!!
दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है..!!

साथ छोड़कर हमारा वो दफा हो गए..!!
और खुद हमें बेवफा कह गए..!!

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग..!!
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग..!!

धोखा शायरी हिंदी

पत्थरों के शहर इश्क़ कमाया..!!
नैनों का धोखा दिल ने चुकाया..!!

प्यार की दुनिया में जिसे यकीन कहा जाता है..!!
उसे धोखा शक और झूठ ने मिलकर मारा है..!!

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा मै..!!
जल रही हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती..!!

जमाये बैठा था निगाह कांटो पर..!!
क्या पता था जख़्म फूल दे जाएगा..!!

गैरों से मुझे कोई शिकवा नहीं मिला है..!!
जिसे दिल से चाहा वही बेवफा निकला है..!!

देखा है जिदंगी में हमने ये आज़मा के..!!
देते है यार धोख़ा दिल के करीब ला के..!!

Dhokha Wala Shayari

वफादार आज वो ही मिलेगा..!!
जिसे धोखा देने का मौका ना मिला हो..!!

बड़ी अजीब फितरत है अधूरे इश्क़ की..!!
किसी को तो धोखेबाज होना ही पड़ता है..!!

अर्ज किया है, तुमने हमें धोखा दिया मगर तुम्हे प्यार मिले..!!
मुझसे भी ज़्यादा दीवाना तुम्हे कोई यार मिले..!!

मैं तेरा कोई नहीं मगर इतना तो बता..!!
जिक्र से मेरे तेरे दिल में आता क्या है..!!

वो मासूम चेहरा मेरे जेहन से निकलता ही नहीं..!!
दिल को कैसे समझाऊँ कि धोके-बाज था वो..!!

प्यार में धोखा स्टेटस, कोट्स और शायरी

वो खुदा भी रो पड़ा हमें देखकर इतने शौक से..!!
अपनी ख्वाहिशों को आग लगाई है हमने..!!

अगर इग्नोर करने वाले को ही वक्त दोगे तब..!!
Hurt तो होगा ही ना मेरे दोस्त..!!

बेहद प्यार का मुझे यह नतीजा मिला है..!!
किसी एक को उम्र भर चाहना सबसे बड़ी गिला है..!!

दिवानगी का सितम तो देखों धोखा..!!
मिलने के बाद भी हम उनको चाहते है..!!

तुमसे प्यार तो ना मिला ये धोखा ही निशानी है..!!
बरसों गुज़र गए पर अधूरी हमारी कहानी है..!!

किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों..!!
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है..!!

बड़े किस्मत वाले होते है वो लोग..!!
जिनको प्यार और दोस्ती में धोखेबाज़ी का..!!
शिकार नहीं बनना पड़ता है..!!

Dhokha ki Shayari

कर्ज़दार हूँ मैं कुछ लोगों का..!!
क्योंकि उनके दिये धोखे के बाद ही..!!
मेरी अक्ल ठिकाने आई है..!!

दिल के करीब लोगों से सावधान रहा कीजिए..!!
क्योंकि उन्होंने अगर धोखा दिया..!!
तो आप बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे..!!

तुम साथ रहने का झूठा एहसास मत..!!
दो हमें लोग हमारे बिच में रह कर भी..!!
मुलाकात नहीं करते हैं..!!

दिल तो हमारा वो आज भी बहला..!!
देते हैं फर्क है तो सिर्फ इतना पहले..!!
हँसा देते थे अब रुला देते हैं..!!

एक तरफ़ा ही सही पर प्यार..!!
मेरा सच्चा है ये भी एक राज है..!!
राज रहे तो अच्छा है..!!

किसी इंसान के लिए इतना भी नहीं..!!
रोना चाहिये, कि तुम खुद को ही..!!
खुश रखना भूल जाओ..!!

कई किरदार निभाए है इस छोटी..!!
सी जिंदगी में लेकिन दुःखी होकर भी..!!
खुश दिखाना सबसे मुश्किल था..!!

दोस्ती में धोखा शायरी, स्टेटस व कोट्स

सुबह ही रात हो गयी जाने क्या बात..!!
हो गयी, क्यों रूठ गए अचानक मुझसे..!!
क्या फिर किसी से मुलाकात हो गयी..!!

उसने कहा करोगे क्या खता एं मोहब्बत..!!
मुझसे हमने कहा गर होती यू मोहब्बत..!!
आजमाइशो से जरूर करते तुमसे..!!

गलती उसके यार की नही जो उसके साथ है..!!
अभी। गलती तो उसकी है जिसने बाबु मुझे..!!
कहा और,थाना किसी और को खिला रही है..!!

जिस्मानी चाहतों के इस दौर में..!!
तुझसे ऐसी मोहब्बत करनी है, कि..!!
तुझे छूने से पहले,तेरी मांग भरनी है..!!

अंधेरों में खोकर भी अपनाया हैं तुझे..!!
कुछ अज़ीब सी मोहब्ब़त हैं मेरी जिसमें..!!
बेशुमार से भी ज्यादा इश्क़ फ़रमाया हैं तुझे..!!

तुझको भी जब अपनी कसमें..!!
अपने वादे याद नहीं हम भी तेरे..!!
ख्वाब अपनी आँखों में रख कर भूल गए..!!

बेशक अपनी मंज़िल तक जाना है..!!
पर जहाँ से अपना दोस्त ना दिखे..!!
वो ऊंचाई किस काम की..!!

Dhokha Shayari image

मतलबी दुनिया मे सम्भल के चलना..!!
यहाँ तो लोग हाथों से दफ़ना कर..!!
भूल जाते हैं, कि कब्र कौन सी थी..!!

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी..!!
ये ज़िन्दगी, लोगो को सिखा देगें..!!
मोहब्बत ऐसे भी होती है..!!

कुछ इस तरह फ़कीर नें जिन्दगी की..!!
मिसाल दी, मुठ्ठी में धूल ली और हवा..!!
में उछाल दी..!!

अब मत खोलना मेरी जिंदगी की पुरानी..!!
किताबों को, जो था वो मैं रहा नहीं जो हूँ..!!
वो किसी को पता नहीं..!!

वो पूछ बैठे हमसे रहने की कोई..!!
बेहतरीन जगह हमने एक नज़र..!!
देखा उन्हें और कहा अपनी औकात में..!!

कहते हैँ प्यार की शुरूआत आँखों से होती है..!!
पर यकीन मानों दोस्तों प्यार की कीमत भी..!!
आँखों को चुकानी पड़ती है..!!

कभी हँसाती है कभी रुलाती है, कभी एक..!!
ही मोड़ सौ दफा दोहराती है, ये ज़िन्दगी है..!!
और ज़िन्दगी बहुत कुछ सिखाती है..!!

विश्वास पर धोखा शायरी

बिखरा वज़ूद, टूटे ख़्वाब, सुलगती..!!
तन्हाईयाँ,कितने हसींन तोहफे दे..!!
जाती है ये अधूरी मोहब्बत..!!

जो दिल को अच्छे लगते है, उन्ही को..!!
अपना कहता हूँ,मुनाफा देखकर रिश्तों..!!
की सियासत नहीं करता..!!

न कहा करो हर बार की हम छोड़..!!
देंगे तुमको, न हम इतने आम हैं..!!
न ये तेरे बस की बात है..!!

जो जले थे हमारे लिए, बुझ रहे है..!!
वो सारे दिये,कुछ अंधेरों की थी..!!
साजिशें, कुछ उजालों ने धोखे दिए..!!

इसे भी पढ़े :- Jhoot Mat Bolo Shayari in Hindi | भरोसा झूठ शायरी

कांच के दिल थे जिनके उनके दिल..!!
टूट गए, हमारा दिल था मोम का..!!
पिघलता ही चला गया..!!

उम्मीद न कर इस दुनिया में..!!
किसी से हमदर्दी की,बड़े प्यार..!!
से जख्म देते है, शिद्दत से चाहने वाले..!!

किसी के साथ कभी ऐसी बहस..!!
मत करो कि बहस तो जीत जाओ..!!
मगर रिश्ता हार जाओ..!!

Dhokha Pyar Shayari

मज़ा आ जाए गर हो जाए इतना..!!
अबकी बारिश में हमारी आखँ के..!!
आँसू, तुम्हारी छत पे जा बरसें..!!

जो लोग अंदर से बिखर जाते है..!!
अक्सर वही लोग..!!
दूसरों को जीना सिखाते हैं..!!

जो जले थे हमारे लिऐ बुझ रहे है..!!
वो सारे दिये, कुछ अंधेरों की थी..!!
साजिशें कुछ उजालों ने धोखे दिये..!!

प्यार का नाम कियु बदनाम करते हो..!!
अगर सभला नहीं जाता तो कियु..!!
अपना दिल किसी करते हो..!!

अच्छा है रब ने दो दिल नही बनाये..!!
एक के टूटने पर इतना दर्द होता है..!!
तो दूसरे के टूटने पर कितना दर्द होता..!!

जाने कितने दर्द है इस दिल मे..!!
जो सब्र बनकर नही..!!
कब्र बनकर उभर रहे है जिंदगी मे..!!

जहर से ज्यादा घातक होती है..!!
मोहब्बत जो एक बार हो जाए तो..!!
फिर मर मर के जीना पड़ता है..!!

पीठ पीछे धोखा शायरी

खंजर भी ना मार सके जिसको..!!
धोखा तेरा उसे मार गया दिल का बादशाह..!!
भी तेरे धोखे की आगे हार गया..!!

मुझसे लोग मेरे बर्बादी का हाल पूछते हैं..!!
क्या बता दूं तेरा नाम या..!!
फिर कर दूं इश्क बदनाम..!!

हमारी हैसियत ना पूछो हम अकेले ही रहते हैं..!!
हर कोई हमको अपना नहीं लगता..!!
इसलिए गम खुद के खुद ही सहते हैं..!!

एक बात हमेशा याद रखना..!!
किसके साथ गलत करके अपनी..!!
बारी का इंतज़ार ज़रूर करना..!!

तुम साथ रहने का झूठा एहसास मत..!!
दो हमें लोग हमारे बिच में रह कर भी..!!
मुलाकात नहीं करते हैं..!!

हर दिन मैंने एक नया अनुभव पाया है..!!
कभी अपनों से धोखा तो कभी..!!
गैरों को अपना होते पाया है..!!

मैंने भी धोका दिया तुझे..!!
जाने के बाद तेरे बना लिया तन्हाई..!!
को हमसफ़र अपना..!!

Apno ne Diya Dhokha Shayari

टूटती है सांसे तो टूट जाने दो..!!
हमारा दिल टूटने पर भी..!!
उसे अफसोस नहीं हुआ था..!!

जब जब तेरी याद पास आती है मेरे..!!
मैं तेरे दिए धोखे और बेवफ़ाई..!!
को याद कर लेता हूँ..!!

जाते-जाते उन्होंने हमें बर्बाद कर दिया..!!
वादा वफा का किया था..!!
और हमें बेवफा कह दिया..!!

तैरना तो आता था हमे लेकिन..!!
जब उसने हाथ नही पकड़ा..!!
तो डूब जाना ही अच्छा लगा हमे..!!

अब तो डर लगता है, किसी से प्यार करने से..!!
थोड़ी बातें और थोड़ा प्यार दिखा कर..!!
लोग जिंदगी भर की तड़प दे जाते हैं..!!

धोखा देती है अक्सर मासूम..!!
चेहरे की चमक, हर काँच के..!!
टुकड़े को हीरा नहीं कहते..!!

मतलब निकल जाने के बाद..!!
सौगात में जो मिल जाता है..!!
उसे धोखा कहते हैं..!!

धोखा शायरी दो लाइन

दीवानगी का सितम तो देखो..!!
कि धोखा मिलने के बाद भी..!!
चाहते है हम उनको..!!

इंसान सब कुछ भूल जाता है..!!
सिवाए उन लम्हों के जब उसे अपनों..!!
की ज़रूरत थी और वो साथ नहीं थे..!!

खूब देखे होंगे आंसू खुशी के तुमने..!!
कभी मिलो हमसे..!!
तुम्हे गम की हँसी भी दिखाएंगे..!!

खाई थी कसमे जो उम्र भर साथ..!!
निभाने की उसे तोड़कर वो मेरी..!!
जिंदगी से दूर हो गई..!!

तेरे हुस्न पर मरने वाले हजारों मिलेंगे..!!
वफा करने का कोई..!!
मेरी टक्कर का कोई मिले तो बताना..!!

मैं निभाता रहा अंत तक सिर्फ जख्मी बनकर..!!
और उसने पायल खनकाई..!!
किसी और के घर की लक्ष्मी बनकर..!!

ना जाने कहां चले गए वह दिन..!!
जब तुम्हारा नंबर मेरे dial call list..!!
लिस्ट में सबसे ऊपर हुआ करता था..!!

pyar mein Dhokha wali Shayari

कभी-कभी सामने वाले की..!!
भलाई के लिए भी..!!
खुद को उनसे दूर करना पड़ता है..!!

पता नहीं क्यों जिसके साथ दिल का..!!
रिश्ता जुड़ा होता है..!!
वह खंजर से भी तेज घाव दे जाता है..!!

थक गई मांग मांग दुआ में खुदा से उसे..!!
लगता है उसकी बस्ती में भी..!!
धर्म मजहब का कायदा चलता है..!!

सुबह की ओस सी थी वो..!!
जरा सी धूप क्या निकली वो घूल सी गई..!!
इन हवाओं में..!!

तेरे इश्क का मुझको तोहफा लाजवाब मिला..!!
मोहब्बत बखूबी निभाई थी मैंने..!!
फिर भी धोखा इनाम मिला..!!

धोखा ही देना था तो बता देते..!!
हम नादानों की तरह अपनी दुनिया..!!
तुम्हारे हवाले ना करते..!!

चांदनी की चमक हो तारों की टीमटीमाहट हो..!!
हम रहे या ना रहे तुम्हारी जिंदगी..!!
तुम्हें मुबारक हो..!!

धोखा शायरी रेख़्ता

तुम्हारे बिना अब जी नहीं पाती हूं..!!
धोखा दिया है तुमने इसलिए..!!
खुद को मिटाना चाहती हूं..!!

मिजाज इश्क का बदलने लगा है..!!
जिसको हमने अपना समझा..!!
वही बेवफा बनने लगा है..!!

तुम जुवारी बड़े ही माहिर हो..!!
एक दिल का पता फेंक कर..!!
जिंदगी खरीद ली हमारी..!!

ख्याल रखा हमने उनकी हर चाहतों का..!!
मगर हुआ क्या बदले में सिर्फ..!!
और सिर्फ बेवफाई हाथ आई..!!

इसे भी पढ़े :- Deedar Shayari ,Love Shayari Dp in Hindi | दीदार शायरी हिंदी

यह कौन सा खेल खेला है तुमने..!!
दावा करते हो हमसे मोहब्बत का..!!
और सबके सामने बेवफा कहते हो..!!

ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है..!!
साथ कभी कभी कुछ मज़बूरियों..!!
मोहब्बत से भी ज्यादा गहरी है..!!

हर भूल तेरी माफ की..!!
हर खता को तेरी भुला दिया..!!
गम ये है कि मेरे प्यार का..!!
तूने बेवफा बनके सिला दिया..!!

Dhokha Shayari images in Hindi

भरोसा जितना कीमती होता है..!!
धोका उतना ही महंगा हो जाता है..!!
ईमानदारी का दाम कोन जाने..!!
यहां हर बेइमान राजा हो जाता है..!!

हर रोज एक खाब टूट जाने दे..!!
हर रोज युही खूद को रूठ जाने दे..!!
मेरी किस्मत में ही बेवफाई है..!!
दिल एक शीशा है आज फिर फूट जाने दे..!!

जीवन जीने का मन नहीं करता..!!
सांस लेने का मन नहीं करता..!!
तुमसे धोखा खाने के बाद..!!
कुछ खाने का मन नहीं करता..!!

अपना कह के अपनों को..!!
बदलने की बात करते हैं..!!
बच के रहना दोस्तों यहां धोकेबाज..!!
साथ चलने की बात करते हैं..!!

काश में उसे पा लेता जिसके लिए..!!
मेने दुनिया को खो दिया..!!
अपनों की बातो में जरा सी कड़वाहट क्या आई..!!
मुझ जैसा पत्थर दिल भी रो दिया..!!

आज गुजरा तेरी गली से..!!
तो याद आया यह वही रास्ते थे..!!
जहां मैं बार-बार बिना वजह..!!
आया करता था..!!

लोग कहते हैं कोई किसी के..!!
पीछे मरता नहीं लेकिन..!!
एक बार सच्ची मोहब्बत हो जाए..!!
तो इंसान जीते जी मर जाता है..!!

बेवफाई शायरी

दिल तोड़ने का हुनर..!!
उनको ही मुबारक हो..!!
रब करे उनका यह कारोबार..!!
इसी तरह चलता रहे..!!

आपके धोखे के बाद वो अब..!!
किसी और पर ऐतबार नहीं करता..!!
धोखा देना सीख लिया उसने भी..!!
वो अब किसी से प्यार नहीं करता..!!

औरों से क्या हम तो..!!
खुद से भी धोखा नहीं करते..!!
हम गरीब है साहब..!!
हम जमीर का सौदा नहीं करते..!!

किसी के साथ धोखा करूं..!!
गिरा हुआ इंसान थोड़ी हूं..!!
और बर्दाश्त कर लो धोखा किसी का..!!
अरे मैं भगवान थोड़ी हूं..!!

ना कहीं मोह है ना कहीं माया..!!
हर तरफ बस खामोशी का साया है..!!
जिसको मोहब्बत से अपना लिया मैंने..!!
बस उसी ने धोखे से मुझे जहर पिलाया है..!!

मोहब्बत सिखा कर जुदा हो गये..!!
ना सोचा ना समझा खफा हो गये..!!
दुनिया में किसको हम अपना कहें..!!
अगर तुम ही बेवफा हो गये..!!

ये इश्क भी क्या चीज़ है..!!
एक वो है जो धोखा दिए जाते हैं..!!
और एक हम है..!!
जो मौका दिए जाते हैं..!!

Image of Dhoka Shayari in English

अरे साहब..!!
हम तो इस बात का शुक्र मनाते है..!!
धोका देने वालों मे नहीं..!!
धोका खाने वालों मे आते है..!!

चाहे कर ले तो मिन्नते हजार..!!
नहीं होगा मुझे तुझ पर ऐतबार..!!
क्योंकि आशिकी की इस राह पर..!!
मुझे मिले हैं धोखे कई बार..!!

हम क्या शिकायत करें किसी से..!!
यहां तो हर कोई बेवफा है..!!
इश्क करो भले जी जान से..!!
धोखा यहां सबको मिलता है..!!

हम क्या शिकायत करें किसी से..!!
यहां तो हर कोई बेवफा है..!!
इश्क करो भले जी जान से..!!
धोखा यहां सबको मिलता है..!!

खुशी देने वाले भले ही हमेशा..!!
अपने नहीं होते जनाब..!!
लेकिन दर्द देने वाले हमेशा..!!
अपने ही होते हैं..!!

उम्मीद ना कर इस दुनिया में..!!
किसी से ‘हमदर्दी’ की..!!
बड़े प्यार से जख्म देते है..!!
शिद्दत से चाहने वाले..!!

गमों की बरसात समेटे बैठा हूँ..!!
किसी बेवफा से धोखा खाया बैठा हूँ..!!
जाने कब देगा उपरवाला मुझे मौत..!!
खुदा के भरोसा आस लगाये बैठा हूँ..!!

अपनों से धोखा शायरी इन हिंदी

जहर भी ना मार सके जिसको..!!
प्यार तेरा उसे मार गया..!!
दिल का बादशाह भी..!!
तेरे धोखों के आगे हार गया..!!

कभी फुर्सत मिले तो..!!
इतना जरूर बताना..!!
वो कौनसी मोहब्बत थी..!!
जो हम तुम्हें ना दे सके..!!

हर रोज एक खाब टूट जाने दे..!!
हर रोज ऐसे ही खूद को रूठ जाने दे..!!
मेरी किस्मत में ही बेवफाई है..!!
दिल एक शीशा है आज फिर टूट जाने दे..!!

तकलीफ ये नही की किस्मत..!!
ने मुझे धोखा दिया..!!
मेरा यकीन तुम पर था..!!
किस्मत पर नही..!!

हर रोज एक खाब टूट जाने दे..!!
हर रोज युही खूद को रूठ जाने दे..!!
मेरी किस्मत में ही बेवफाई है..!!
दिल एक शीशा है, आज फिर फूट जाने दे..!!

धोका खा कर जीने से अच्छा है..!!
अकेला जीना सिख लो, इस..!!
दुनिया में प्यार साथ नहीं निभाता..!!
ये जान कर रख लो..!!

कैसी है यह हमारी तक़दीर..!!
हर तरफ दागा ही पाया है..!!
दिल में तो है प्यार ही प्यार लेकिन..!!
हर तरफ बेवफाओ को ही पाया है..!!

Dhokha wali Shayari

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है..!!
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है..!!
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू..!!
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है..!!

तुमसे प्यार तो ना मिला ये..!!
धोखा ही निशानी है..!!
बरसों गुज़र गए पर अधूरी..!!
हमारी कहानी है..!!

धोखेबाज हैं यह दुनिया वाले..!!
इस्तेमाल करना खूब जानती हैं..!!
दिल को खुद ही तोड़ कर..!!
हाल पूछना भी खूब जानते हैं..!!

इसे भी पढ़े :- New Dard Bhari Shayari in Hindi | सबसे दर्द भरी शायरी

Time Pass कितना मस्त शब्द है..!!
ना वैसे एक को ख़ुशी मिलती है..!!
दूसरे को बुरा लगता है अंत में
एक दूसरे को खोकर दोनों रोते हैं..!!

मोहब्बत सीखा कर जुड़ा हो गए..!!
न सोचा न समझा खफा हो गए..!!
दुनिया में किसको हम अपना कहे..!!
अगर तुम बेवफा हो गए..!!

रिश्ते टूट कर चूर चूर हो गए..!!
धीरे धीरे वो हमेसा दूर हो गए..!!
हमारी ख़ामोशी हमारे लिए गुन्हा बन..!!
गयी और वो गुन्हा कर बेकसूर हो गए..!!

ज़िन्दगी में एक पल भी सुकून न पाया..!!
दुनिया की इस भीड़ में खुद को तनहा न..!!
पाया तेरे दिए ज़ख्मो को प्यार समझते रहे..!!
तेरे धोके में आके किसी से दिल न लगाया..!!

रिश्ते धोखा शायरी हिंदी

सारा दिन गुज़र जाता है खुद को..!!
समेटने में फिर रत को उसकी..!!
याद की हवा चलती है और हम..!!
फिर बिखर जाते हैं..!!

हम कितने बेवफा हैं एक दम..!!
उनके दिल से निकल गए उनमे..!!
कितनी वफ़ा थी आज तक हमारे..!!
दिल से नहीं निकले..!!

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते..!!
बिन कहे भी जी नहीं सकते, ऐ खुदा ऐसी..!!
तकदीर बना,कि वो खुद हम से आकर..!!
कहे कि, हम आपके बिना जी नही सकते..!!

सब कुछ मिला बस खुदाई क सिवा..!!
ज़िन्दगी बहुत पसंद आयी रुस्वाई क..!!
सिवा मेरी चाहत एहसास भी ना होगा..!!
उसकी हर अदा पसंद आयी बेवफाई के सिवा..!!

तेरी दोस्ती ने दिया सकूँ इतना की तेरे..!!
बाद कोई भी अच्छा न लगे तुझे करनी..!!
हो बेवफाई तो इस अदा से करना की..!!
तेरे बाद कोई भी बेवफा न लगे..!!

रोते हुए को हसाने की क्या सजा पा गया..!!
मेरी जिंदगी की खुशी उसको मिली..!!
और उसकी जिंदगी का हर गम..!!
मेरे हिस्से आ गया..!!

शुक्र है खुदा का, जिसने रंगीन..!!
नहीं रखे आंसू, वरना रात में..!!
भीग जाने वाले तकिये हमारे..!!
राज बया कर देते..!!

Dhokebaaz Shayari

यूं तो यकीनन है मौत जिंदगी का..!!
अन्जाम और मरने के है कई रास्ते..!!
मरकर भी जिंदा है वो लोग..!!
जो मर गए मुहब्बत के वास्ते..!!

कीसी का साथ होना भी..!!
कभी कभी साथ नही लगता..!!
अजीब है ना हाथ मे सब कुछ है..!!
मगर हाथ कुछ नही लगता..!!

जिसे तुम कभी पा नही सकते..!!
उसे तुम कभी खो भी नही सकते..!!
तो मेरी जान,सोचो तुम मेरे दिलमे..!!
कितने सुरक्षित हो..!!

दिल को टुटते देखा हैं मैने..!!
सारी दुनिया को रोता देखा हैं मैने..!!
जो करता हैं दिल से प्यार किसीको..!!
उसे भी रुठता देखा हैं मैने..!!

क्या कहूँ किन हालातों से गुज़रा हूँ..!!
खुद को बदलने के लिए..!!
मग़र जब ये हालात बदले..!!
तो वो वक्त भी गुज़रता चला गया..!!

इश्क की नासमझी में..!!
हम अपना सबकुछ गँवा बैठे..!!
उन्हें खिलौने की जरूरत थी..!!
और हम अपना दिल थमा बैठे..!!

न नाप पाता कोई..!!
चाँद की खूबसूरती को कभी..!!
उस खुदा ने तुझे बना चाँद को भी..!!
नीचा दिखा दिया एक रोज..!!

तुम दिल में उतर गए..!!
हो मोहब्बत बनकर..!!
दूर मत हो जाना मुझसे..!!
मेरी आदत बनकर..!!

बेहतरीन धोखा शायरी

मोहब्बत तभी करो..!!
जब दो तरफ से हो..!!
एक तरफा मोहब्बत..!!
तो सिर्फ जख्म देती है..!!

धोखा ही देना था तो बता देते..!!
हम नादानो की तरफ..!!
अपनी जिंदगी तो तुम्हारे..!!
हवाले ना करते..!!

धोखा देना इश्क की नही..!!
इंसान की फितरत मे शुमार है..!!
रहा ना कोई कसूर..!!
वह बेचारा दिल से बीमार है..!!

हर भूल तेरी माफ़ की..!!
हर खता को तेरी भुला दिया..!!
गम ये है कि मेरे प्यार का..!!
तूने बेवफा बनके सिला दिया..!!

Conclusion :-

दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा यह Dhokha Shayari in Hindi :- पोस्ट यदि आपको पसंद आया तो अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर शेयर जरुर करें । और यदि आप हमें कोई शिकायत या सुझाव देना चाहते हैं तो आप हमें निचे कमेंट में बता सकतें हैं । (धन्यवाद) Most Welcome For Visit Our Sites Quotessad.com

Leave a Comment